सेक्स रैकेट केस में पकड़ी गईं कांग्रेस और बीजेपी की ये महिला नेत्रियां

सवाई माधोपुर। राजस्थान की सियासत में भूचाल ला देने वाले सवाई माधोपुर सेक्स रैकेट केस में मंगलवार को बड़ी खबर सामने आई है। भाजपा-कांग्रेस की जिलास्तर पर पूर्व महिला पदाधिकारियों द्वारा चलाए जा रहे जिस्मफरोशी के इस खेल में कांग्रेस नेता पूजा उर्फ पूनम चौधरी की गिरफ्तारी हुई है जबकि भाजपा नेता सुनीता वर्मा पूर्व में गिरफ्तार हो चुकी हैं। वर्तमान में वो जेल में है।

अनुसंधान अधिकारी एवं पुलिस महिला प्रकोष्ठ डीएसपी ओम प्रकाश सोलंकी ने बताया कि आरोपी सुनीता उर्फ संपति बाई भाजपा महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष और पूर्जा उर्फ पूनम चौधरी कांग्रेस सेवादल महिला प्रकोष्ठ की जिलाध्यक्ष रह चुकी हैं। दोनों को पूरे मामले में मुख्य सूत्रधार भी माना जा रहा है।

पुलिस जांच में पता चला कि नाबालिग पीड़िता को चंगुल में फंसाने वाली पूजा उर्फ़ पूनम चौधरी ही थी। इसके द्वारा नाबालिग को अपने जाल में फंसाकर सुनीता वर्मा के हवाले किया था। फिर उसके इशारे कई सरकारी कर्मचारियों से रेप करवाया। पूनम चौधरी मामला दर्ज होने के बाद से ही लगातार फरार चल रही थी। विगत 20 दिनों से फरार चल रही आरोपी पूनम चौधरी को पुलिस ने सूरवाल क्षेत्र से गिरफ्तार किया है।

अनुसंधान अधिकारी एवं पुलिस महिला प्रकोष्ठ डीएसपी ओम प्रकाश सोलंकी ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों में सुनीता के अलावा उसका परिचित हीरालाल मीणा, सवाई माधोपुर जिला कलेक्टर कार्यालय का चपरासी श्योराम मीना, जिला उद्योग केंद्र का लिपिक संदीप शर्मा एवं इलेक्ट्रिशियन राजूलाल रैगर शामिल है। अब तक कुछ लोग पकड़े जा चुके हैं।

पुलिस के अनुसार भाजपा महिला मोर्चा की पूर्व जिलाध्यक्ष वर्मा जिला उद्योग केन्द्र व श्रम विभाग में लोन, सब्सिडी, श्रम डायरी सहित विभिन्न योजनाओं का लाभ दिलाने का काम करती है। इसके चलते आरोपित वर्मा से जिला उद्योग केन्द्र के लिपिक शर्मा की जानकारी है। नाबालिग भी आरोपियों के साथ शर्मा से संपर्क में थी। इसका फायदा उठाकर आरोपी ने राजनगर में नर्सिंग होम के पास अपने मकान पर नाबालिग के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया।

नाबालिग से दुष्कर्म मामले में गुरुवार को पुलिस ने चौथे आरोपी राजूलाल रैगर की गिरफ्तारी की है। आरोपी बिजली फिटिंग का काम करता है और इसने सुनीता वर्मा के घर में बिजली का काम किया था। काम की मजदूरी के बकाया दो हजार रुपए मांगने पर सुनीता वर्मा ने इस नाबालिग बालिका को उसके हवाले कर दिया और हिसाब चुकता कर लिया। बाद में आरोपी ने बालिका को होटल स्वागत में ले जाकर उसका देह शोषण किया था।

पीड़िता के अनुसार इन दोनों पूर्व महिला पदाधिकारियों द्वारा आपसी सामंजस्य से सेक्स रैकेट चलाया जा रहा था। इसमें कई लड़कियां और महिलाएं फंसी हुई हैं। अब तक पांच लोगों की गिरफ्तारी की जा चुकी है। बालिका ने दूसरे कई लोगों द्वारा भी शोषण करने का आरोप लगाया है।

पीड़िता के परिवार द्वारा भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा की जिला अध्यक्ष के खिलाफ नाबालिग से दुष्कर्म करवाने का मामला सवाई माधोपुर महिला पुलिस थाने में दर्ज करवाया गया था। नाबालिग के परिजनों ने शिकायत में बताया कि भाजपा महिला मोर्चा की जिला अध्यक्ष एवं उनके साथियों ने उनकी नाबालिग बेटी को बहला-फुसलाकर पैसे का लालच देकर दुष्कर्म जैसे संगीन जुर्म में धकेलने का काम किया है। नाबालिग को लालच दिया गया कि उसकी जिंदगी बना दी जाएगी और उसे लोगों के पास भेजा गया।

Advertisement