CBSE ने बदले नियम! जानिए कौन से छात्र दे पाएगे परीक्षाएं और कौन से नही

आगामी दसवी और बारवी वार्षिक परीक्षायो को लेकर सीबीएसई ने  बड़ा नियम लागु किया है. दसवीं व बाहरवीं कक्षा के बोर्ड परीक्षार्थियों की परेशानी बढ़ा सकता है। दरअसल, अब यदि छात्र या छात्रा की कक्षा 10वीं-12वीं में उपस्थिति 75 प्रतिशत से कम है तो उन्हें बोर्ड परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं दी जाएगी। इसके लिए बोर्ड द्वारा स्कूलों को नोटिस जारी किया गया है तथा इस नए नियम को लागू करने के आदेश दिए गए हैं। 10वीं-12वीं की परीक्षाओ को लेकर विद्यार्थी तैयारी में जुटे हुए हैं लेकिन तैयारी में जुटे विद्यार्थियों के लिए सीबीएसई के नए नियम से परेशानी हो सकती है.

दरअसल, केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानि सीबीएसई ने नोटिस जारी कर विद्यालो को बताया है कि इस साल 1 जनवरी, 2020 की कक्षा 10वीं और कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में उपस्थित होने वाले छात्रों की उपस्थिति की गणना करें। जिन छात्रों की उपस्थिति 75 प्रतिशत से कम होगी, उसे  नए नियम के अनुसार, परीक्षा में प्रवेश होने की अनुमति नहीं दी जाएगी। बोर्ड ने 1 जनवरी, 2020 तक का डाटा बुलाया है।

सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं 15 फरवरी से शुरू होंगी और एडमिट कार्ड केवल उन्ही छात्रों के लिए जारी किए जाएंगे जिनकी उपस्थिति 75 प्रतिशत या उससे अधिक होगी। कम उपस्थिति वाले उम्मीदवारों की लिस्ट रीजनल ऑफिस तक पहुंच जाएगी  और अंतिम निर्णय 7 जनवरी को या उससे पहले लिया जाएगा।

इस साल से लागू होंगे नए नियम

सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाओं में 2020 से कई नए नियम लागू होंगे, जिनमें प्रश्नों की संख्या कम करना भी शामिल है। प्रश्न पत्र में रॉट मेमोराइजेशन आधारित प्रश्नों के बजाए 33 प्रतिशत विकल्प और हायर ऑर्डर थिंकिंग पर अधिक प्रश्न होंगे। थ्योरी की परीक्षाएं 100 अंकों के बजाय, 80 अंकों की होगी। जहां प्रैक्टिकल असेसमेंट नहीं होगी, वही इंटरनल असेसमेंट कुल 20 अंकों तक होगा। बताया जा रहा है की, परीक्षा पास करने के लिए परीक्षार्थियों को थ्योरी और प्रैक्टिकल दोनों परीक्षाओं को अलग-अलग क्लियर करना होगा। सीबीएसई के लिए, उम्मीदवारों को पास होने के लिए लगभग 33 प्रतिशत अंक लाने होंगे।

समय सीमा के भीतर देना होगा जवाब :

सीबीएसई ने इस संबंध में सभी स्कूलों को नोटिस कर दिया है और उन छात्रों की अटेंडेस की गिनती करने को कहा है जो इस साल की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं के लिए हिस्सा लेंगे। कम उपस्थिति वाले विद्यार्थियों की सूची क्षेत्रीय कार्यालयों तक भेजी जाएगी यदि किसी उम्मीदवार के पास उपस्थिति की कमी के पीछे एक वास्तविक कारण है, तो उन्हें 7 जनवरी तक अधिकारियों के साथ जरूरी दस्तावेज जमा करवाने होंगे। नोटिस बोर्ड के अनुसार, किसी भी मामले को समय सीमा के बाद नहीं माना जाएगा।  छात्र कक्षा में उपस्थित क्यों नहीं हो पाया इसका कारण समय सीमा के भीतर दिया जाए

दसवीं की परीक्षाएं 26 फरवरी से :

सीबीएसई बोर्ड कक्षा 10वीं के मेन पेपर्स के एग्जाम 26 फरवरी 2020 से शुरू होंगे। ये परीक्षाएं 18 मार्च 2020 जारी रहेगी, 12वीं के मुख्य विषयों की परीक्षाएं 22 फरवरी से शुरू होंगी और जो 30 मार्च 2020 तक चलेगी। पिछले साल 10वीं की परीक्षा 7 मार्च से शुरू हुई थी और 29 मार्च 2019 तक चली थीं। वहीं पिछले वर्ष कक्षा बारहवीं की बोर्ड परीक्षाएं 2 मार्च से 2 अप्रैल 2019 तक चली थीं।

पूरी जानकारी के लिए यह विडियो देखे >>

Advertisement