सावधान ! कहीं आपका आधारकार्ड भी नकली तो नहीं?

Advertisement

------------- Advertisement -----------

हिसार। हरियाणा के विभिन्न जिलों से आधारकार्ड में फर्जीवाड़े की खबरे निरंतर आ रही है। 300 रुपए से एक हजार रुपए में फोटोस्टेट की दुकानों  पर फर्जी आधार कार्ड बनाने का खेल चल रहा है। कहीं बच्चों के आधार कार्ड पर बड़ों का आधार कार्ड बना दिया गया। कहीं महिला के आधार कार्ड पर पुरुष को आधार कार्ड जारी कर दिया गया। अब नाम और पता करेक्शन कराने के लिए लोग आधार सेवा केंद्र में पहुंचे तो उन्हें फर्जीवाड़े का पता लगा। पिछले करीब एक साल में इस तरह के पचास से अधिक मामले आधार सेवा केंद्र के अधिकारियों के पास पहुंचे हैं। प्रशासन फर्जी आधार कार्ड बनाने वालों पर शिकंजा कसने में नाकाम है। अब आधार सेवा केंद्र के अधिकारी ऐसे लोगों के बहकावे में नहीं आने की अपील कर रहे हैं।

भिवानी के युवक ने आधार सेवा केंद्र पर नाम सही कराने का आवेदन किया। जांच में पता चला कि आधार कार्ड बना नहीं है, जो आधार उसे जारी किया, वह 7 साल के मासूम का है, फोटोस्टेट की दुकान वाले युवक ने 700 रुपए लिए थे। अब युवक ने आधार कार्ड के लिए दोबरा अप्लाई किया है।

Advertisement

फतेहाबाद की युवती को किसी पुरुष नाम के आधार कार्ड में फोटो और नाम में चेंज कर उसके नाम का कार्ड जारी कर दिया गया। युवती उम्र सही कराने के लिए पहुंची तो उसे फर्जीवाड़े का पता लगा। हालांकि आधार सेवा केंद्र के अधिकारियों ने युवती का नया कार्ड जारी करा दिया।

ऐसे ही हिसार के अर्बन एस्टेट की लड़की से 500 रुपए लेकर अंकित के कार्ड में नाम व फोटो चेंज कर कार्ड दे दिया। नाम सही कराने के लिए सेवा केंद्र पहुंची तो फर्जीवाड़े का पता लगा। अब नए आधार कार्ड के लिए लड़की ने अप्लाई किया है।

गन्नौर की महिला को 900 रुपए में किसी और महिला का कार्ड नाम-पता व फोटो चेंज कर दे दिया। पीड़ित इसी फर्जी आधार कार्ड को हर जगह यूज करती रही। अब आधार सेवा केंद्र में पहुंची तो उसे फर्जीवाड़े का पता लगा। यह चार मामले तो बानगी भर मात्र है, लेकिन कुरुक्षेत्र, रोहतक, पानीपत, सिरसा, फरीदाबाद, झज्जर से भी इस तरह के केस आधार सेवा केंद्र में पहुंचे हैं।

आधार सेवा केंद्र के अधिकारियों ने कहा कि प्रदेश के सभी जिलों में कुछ फोटोस्टेट व आधार कार्ड बनाने वाले चंद रुपयों  के लालच में दूसरों के आधार कार्ड पर फोटो, नाम और पता बदलकर उन्हें 300 से लेकर एक हजार रुपए में आधार कार्ड जारी कर देते हैं। वह फोटोशॉप में पूरा ब्योरा एडिट कर देते हैं। शिकायतकर्ता फोटोस्टेट संचालक से फर्जी आधार कार्ड बनाने की जानकारी देते हैं, मगर बनवाया कौन सी जगह, यह जानकारी नहीं दी जाती है, जिसके कारण इन लोगों पर शिकंजा नहीं कसा जा रहा है। शिकायत प्रशासनिक अधिकारियों से करने की भी अपील आधार सेवा केंद्र के अधिकारियों ने की है।

हिसार के आधार सेवा केंद्र के अधिकारियों ने बताया कि पूरे देश में यूआईडीएआई द्वारा संचालित करीब 108 आधार सेवा केंद्र हैं। इनमें हरियाणा में हिसार में ही एक मात्र यह केंद्र है। हिसार में प्रतिदिन प्रदेशभर के विभिन्न स्थानों से करीब 300 से अधिक लोग नया आधार कार्ड बनवाने से लेकर करेक्शन कराने को  पहुंच रहे हैं।

यूआईडीएआई की तरफ से संचालित आधार सेवा केंद्र में करेक्शन या फिर नए कार्ड के लिए आवेदन करने के 3 से लेकर 90 दिन के अंदर आधार कार्ड जारी कर दिया जाता है। हिसार के आधार सेवा केंद्र के अधिकारी करेक्शन या फिर नए आधार कार्ड के लिए डाक्यूमेंट्स को बेंगलुरु या फिर चंडीगढ़ भेजते हैं। इसके बाद जांच कर आधार कार्ड जारी किया जाता है।

Advertisement