हरियाणा: पहली से आठवीं तक के स्टूडेंट्स के लिए भेजी जाएंगी पुस्तकें

यमुनानगर: अभी तक नए सत्र शुरू होने के भी काफी समय बाद शिक्षा विभाग की ओर से पुस्तकें भेजी जाती थी। इससे सरकारी स्कूलों में पढ़ाई करने वाले स्टूडेंट्स परेशान होते थे। इस बार ऐसा नहीं होगा। शिक्षा विभाग की ओर से सभी जिलों से पहली से आठवीं तक के स्टूडेंट्स की पुस्तकों की डिटेल मांगी गई है।

जिला में समग्र शिक्षा ने विभाग को डिटेल भेज दी है। इसमें हिंदी और अंग्रेजी दोनों माध्यम की पुस्तकें शामिल की गई हैं। डिप्टी डीईओ सुमन बहमनी का कहना है कि इस बार शिक्षा विभाग ने 2021-2022 के लिए सरकारी स्कूलों से पुस्तकों की डिमांड मांगी है। स्कूलों से आई डिमांड जिला शिक्षा विभाग से शिक्षा निदेशालय को भेजी जाएगी। लॉकडाउन के चलते स्कूल बंद होने के कारण शिक्षा पर काफी असर पड़ा है।

शिक्षा निदेशालय ने पहली से आठवीं तक विद्यार्थियों के लिए अंग्रेजी व हिंदी मीडियम की पुस्तकें निशुल्क जल्द ही स्कूलों में आएंगी। स्कूलों में एमआईएस पोर्टल पर विद्यार्थियों की दी संख्या के हिसाब से पुस्तक आनी हैं। इसी के साथ शिक्षा सत्र से पहले स्कूलों में सीधे तौर पर पुस्तकें भेजने का कार्य किया जाएगा।

सभी खंड से मांगी जानी है डिटेल

विभागीय अधिकारियों के अनुसार लॉकडाउन में स्कूल बंद रहे। अब स्कूल खुले हैं। बच्चों को नए सत्र से पुस्तक उपलब्ध कराने के लिए शिक्षा निदेशालय ने सभी ब्लॉक से भी डिटेल की मांग की है। इसके बाद ही दोनों माध्यम की पुस्तकें भेजी जाएंगी। पुस्तकें आने के बाद ब्लॉक स्तर पर स्कूल संचालकों की ड्यूटी लगाई जाएगी, जिससे समय पर पुस्तकें पहुंच सकें।

Advertisement