बिग बॉस के बाद अब बीजेपी नेत्री सोनाली फोगट पंजाबी फिल्म इंडस्ट्री में लगाएंगी तड़का

चंडीगढ़। Bigg Boss 14 से पूरे देश में चर्चित हुईं ह‍रियाणा की भाजपा नेता व टिकटॉक स्टार सोनाली फोगाट अब नई पारी शुरू करने वाली हैं। रियलिटी शो बिग बॉस से बाहर होने के बाद उन्‍होंने आगे के लिए अपनी प्‍लानिंग तैयार कर ही है।   अब वे पॉलीवुड व बॉलीवुड की ओर रुख कर रही हैं।

इसका ऐलान उन्होंने आज चंडीगढ़ में मीडिया के सामने आकर किया। उन्होंने बताया कि पंजाबी फिल्म में वे गुगू गिल के साथ नजर आएंगी।

हरियाणा के हिसार जिले की रहने वाली सोनाली फोगाट ने मीडिया के सामने कहा, ‘मुझे एक्टर बनने का शौक था इसलिए मैंने एक्टिंग शुरू की। राजनीति भी साथ-साथ चली। यह अलग बात है कि एक्टिंग को ज्यादा समय नहीं दे पाई क्योंकि राजनीति में ज्यादा समय चला जाता था। एंकर के रूप में हरियाणा दूरदर्शन पर लगातार तीन साल एक कार्यक्रम किया। फिल्में भी की।

हरियाणवी वेब सीरीज और शॉर्ट मूवीज भी की हैं। राजनीति में भी जब लोगों से मेरा जुड़ाव हुआ तो यह मेरा पैशन बन गया कि मुझे लोगों के लिए काम करना है। मैं चाहती हूं कि दोनों चीजें साथ-साथ चलें। काम के ज्यादा ऑफर आ रहे हैं, तो अब एक्टिंग के काम को भी समय दूंगी।

टिकटॉक तो मैंने वैसे ही शौकिया तौर पर शुरू किया था। दो साल काम किया, जब सरकार ने चीनी एप बंद किए तो मैंने भी इसे बंद कर दिया। अब मैं इंस्टाग्राम पर हूं।’

उन्होंने कहा, ‘मैं स्टेज कलाकार हूं। कलाकार का मन हमेशा कुछ करने का रहता है। मैं जब मुंबई में रवि किशन जी के साथ शूटिंग कर रही थी। तब मुझे थोड़ा खाली समय मिलता था। तब मैंने फेसबुक पर टिकटॉक एप देखा। मैं सोशल मीडिया पर पहले से ही एक्टिव थी।

लाइव किया करती थी। मैंने इसे डाउनलोड किया और शूट का वीडियो बना कर अपलोड कर दिया। उसका काफी अच्छा रेस्पांस मिला। मैंने कई सारे वीडियोज बना डाले। मैंने वापस आकर भी इसे जारी रखा। मेरी फॉलोइंग बहुत बढ़ गई थी।

जब लोकसभा चुनाव आए तो लोगों ने मुझे कहा कि आप एक नेता होकर इस तरह से गाने गाती हैं, डांस करती हैं तो अच्छा नहीं लगता है। आप इसे बंद कर दीजिए। तब मैंने उनसे कहा कि मैं एक कलाकार हूं और अपनी कला का गला नहीं घोंट सकती।

अगर मेरे संगठन को लगेगा कि मैं काबिल हूं तो मुझे टिकट मिलेगा और मैं चुनाव लड़ूंगी। मेरे लाखों फॉलोवर्स हो गए थे। जब मुझे विधानसभा का टिकट मिला तो यह भी लाइमलाइट में आया कि मैं टिकटॉक स्टार हूं। लोगों ने मुझे ज्यादा जाना। मैंने पैसे कमाने पर ध्यान नहीं दिया मैं सिर्फ काम और मनोरंजन के लिए टिकटॉक वीडियोज बनाती थी। जब चाइनीज एप का बहिष्कार करना था तो मैंने इसे खुशी-खुशी छोड़ दिया।’

 

सोनाली ने कहा, ‘मैं गांव के माहौल से आई। मुझे ज्यादा जानकारी नहीं थी कि शहर के लोग कैसा बर्ताव करते हैं। शादी के बाद मुझे दिल्ली रहने का अवसर मिला। बारहवीं के बाद ही मेरी शादी हो गई थी। मुझे ससुराल के लोग बहुत पढ़े-लिखे और एडवांस मिले लेकिन कहीं न कहीं वे भी चाहते थे कि हमारी बहू बाहर न निकले और घर में ही रहे। मैंने अपनी पढ़ाई की इच्छा पहले ही बता दी थी।

हमारे गांव में कोई स्कूल नहीं था। पिता ने कहा कि शादी तो तुम्हें करनी है, पढ़ाई के लिए तुम्हें अकेले बाहर नहीं भेज पाऊंगा। जब तुम्हारे ससुराल वाले कह रहे हैं कि वे तुम्हें पढ़ाएंगे तो तुम वहां पढ़ सकती हो। मैंने पढ़ाई के लालच में और परिवार व पति से मिलकर अच्छा लगने पर शादी के लिए हां कह दी।’

 

Advertisement