कुछ सालों की नौकरी में करोड़पति बना बिहार का ये थानेदार, सच सामने आया तो हुआ Suspend

पटनाः देशभर में जहां कुछ पुलिसकर्मी अपना परिवार तक भूलाकर निष्ठा और लग्न से खाकी वर्दी का फर्ज अदा करते हैं, वहीं दूसरी तरफ कुछ पुलिसकर्मी ऐसे भी हैं, जो केवल काला धन कमाने के लिए पुलिस की वर्दी पहनते हैं। ऐसा ही बिहार पुलिस का एक थानेदार है, जो केवल 11 साल की नौकरी में ही करोड़पति बन गया। वहीं गलत तरीके से कमाए हुए काले धन का सच सामने आने के बाद थानेदार को सस्पेंड कर दिया गया।

दरअसल, पूर्णिया के मरंगा के पूर्व थानेदार मदन कुमार ने बिहार पुलिस में 11 साल नौकरी की लेकिन अभी तक शादी नहीं की है। उसके पास से लगभग 400 ग्राम सोने के आभूषण बरामद हुए हैं। इसके साथ ही उनके पास लग्जरी कार भी है। मदन के खाते में वेतन के अतिरिक्त 40 लाख रुपए जमा है। इतना ही नहीं 2 बैंक खातों की जांच की जा रही है, जिसके बारे में वह जानकारी छिपाकर रखा हुआ था। उसने पूर्णिया के ही एक बिल्डर से 3 बीएचके का बिल्डिंग खरीदी हुई है।

आय से अधिक संपत्ति का मामला

वहीं आईजी रत्न संजय ने मदन कुमार के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति मामले की जांच एडिशनल एसपी बम बम चौधरी से करवाई थी, जिसके बाद खुलासा हुआ कि उसने गलत तरीके से आय से अधिक संपत्ति अर्जित की है। इसको लेकर मदन कुमार के खिलाफ केहाट थाना में केस दर्ज करवाया गया और उसे सस्पेंड कर दिया गया।

बता दें कि मदन कुमार जिस-जिस थाने में तैनात होता था, वहां पर दलालों का गैंग तैयार करता था। इसके बाद दलाल उसके लिए काम करते थे और केस को समझौता के नाम पर डील करते थे, जिससे उसे लाखों की कमाई होती थी।

Advertisement