2000 रुपये के नोट को लेकर आई बड़ी खबर, सरकार ने दी ये जानकारी, आखिर क्यों गायब हो रहे नोट?

2000 Rupees Note News: केंद्र सरकार (Central Government) की ओर से की गई नोटबंदी के बाद 2000 और 500 रुपये को लेकर कई खबरें आती रहती हैं. आज सरकार ने 2000 रुपये के नोट को लेकर एक बड़ी जानकारी दी है. सरकार ने बताया कि आखिर नवंबर महीने में नोटों की संख्या में क्यों कमी आई है.

वित्त मंत्रालय में राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने राज्यसभा में एक सवाल के जबाव में कहा कि विशेष मूल्यवर्ग के बैंक नोटों की छपाई का निर्णय सरकार द्वारा आरबीआई की परामर्श पर लिया जाता है. इसके अलावा जनता के लेनदेन और मांग को देखते हुए नोटों की उपलब्धता को बढ़ाया या घटाया जाता है.

उन्होंने कहा, ‘‘31 मार्च, 2018 को 2,000 रुपये मूल्यवर्ग के 336.3 करोड़ नोट (MPC) परिचालन में थे जो मात्रा और मूल्य के मामले में एनआईसी का क्रमशः 3.27 फीसदी और 37.26 फीसदी हैं. इसके मुकाबले 26 नवंबर, 2021 को 2,233 एमपीसी प्रचालन में थे, जो मात्रा और मूल्य के संदर्भ में एनआईसी का क्रमश: 1.75 फीसदी और 15.11 फीसदी है.’’

चौधरी ने आगे कहा कि वर्ष 2018-19 से नोट के लिए करेंसी प्रिंटिंग प्रेस के पास कोई नया मांगपत्र नहीं रखा गया है.

उन्होंने कहा, ‘‘नोटबंदी के बाद जारी किए गए 2,000 रुपये के नोट के प्रचलन में कमी इसलिए है क्योंकि वर्ष 2018-19 से इन नोटों की छपाई के लिए कोई नया मांगपत्र नहीं रखा गया है. इसके अलावा, नोट भी खराब हो जाते हैं क्योंकि वे गंदे / कटे-फटे हो जाते हैं.’’

Advertisement