गुडगाँव में प्राइवेट लैब की बड़ी लापरवाही आई सामने, 200 कोरोना मरीजों की सूचना गलत, 67 लापता

गुरुग्राम : साइबर सिटी गुरुग्राम में प्राइवेट लैब संचालक अपनी मनमानी करने से बाज नहीं आ रहे है। कोविड 19 टेस्ट करते समय सदिग्ध मरीजों का नंबर वेरिफाई नहीं करते, जिसके कारण स्वास्थ्य विभाग मरीजों तक नहीं पहुंच पा रहा है । गुरुग्राम की 5 लैबो को स्वास्थ्य विभाग ने कारण बताओ नोटिस भेजा है। इनपर आरोप है की इन्होने कोविड टेस्ट करते समय  मरीजों का मोबाईल नंबर और एड्रेस वैरिफाई नहीं किया था। इन लैबो में मेदांता जैसे बडी लेब भी शामिल है।

गुरुग्राम में स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के कारण पहले भी 67 कोरोना संक्रमित मरीज लापता है, जिनका अभी तक कोई सुराग नहीं मिल पा रहा है। अब ऐसे में इन लैबो की लापवाही के कारन लगभग 200 ऐसे कोरोना संक्रमित मरीज है, जिनका मोबाइल नंबर और एड्रेस गलत है। हलाकि इस मामले पर स्वास्थ्य विभाग कुछ भी कहने से बच रहा है, लेकिन सूत्रों की माने तो  इन मरीजों में अभी भी कुछ ऐसे मरीज है जिन्हे अभी तक ट्रेस नहीं किया गया है।

कोरोना संक्रमित मरीजों की बात करे तो हरियाणा में सबसे ज्यादा मामले गुरुग्राम से आ रहे है। इन बढ़ते मामलो को रोकने के लिए चीफ मेडिकल ऑफिसर को लाया गया है ,लेकिन फिर भी हालात जस के तस बने हुए है।  कुछ दिन पहले ही हरियाणा स्वास्थ्य विभाग की निर्देशक ने कहा था की आने वाले समय में जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों का आकड़ा डेढ़ लाख के करीब पहुंच जायेगा। अब ऐसे में ये हालत रहे तो शायद डेढ़ लाख से ज्यादा कोरोना संक्रमित मरीज का आकड़ा पहुंच सकता है।

Advertisement