खट्टर सरकार का बड़ा तोहफा, कमजोर वर्गों को पुलिस भर्ती की उम्र में दी इतने साल की छूट

चंडीगढ़. हरियाणा सरकार ने आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के युवाओं के लिए बड़ी घोषणा की है. सरकार ने पुलिस भर्ती में हरियाणा में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (ईडब्ल्यूएस) के युवाओं को आयु में पांच साल की छूट दी है. इससे हजारों युवा लाभान्वित होंगे. सीएम मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar) ने गुरुवार को विधानसभा में इसकी घोषणा की. नारनौंद से जजपा विधायक राम कुमार गौतम ने मानसून सत्र (Monsoon Session) के दूसरे चरण के पहले दिन प्रश्नकाल में इसे लेकर सवाल पूछा था. जिस पर गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि आर्थिक रूप से कमजोर श्रेणी के उम्मीदवारों को आयु में पांच साल की छूट देने का कोई प्रस्ताव सरकार के पास विचाराधीन नहीं है. यह सुझाव अच्छा है, इस पर विचार करेंगे.

इस पर गौतम ने कहा कि सीएम साहब तो थोड़े कंजूस हैं लेकिन विज से ऐसी उम्मीद वह नहीं करते. इससे पहले कि विज कुछ कहते सीएम ने मोर्चा संभाल लिया. सीएम ने कहा कि आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को केंद्र सरकार ने नौकरियों में दस फीसदी आरक्षण दिया था, जिसे प्रदेश में भी लागू किया गया है. इस श्रेणी के युवाओं को पुलिस भर्ती में आयु में कोई छूट अभी तक नहीं है.

सीएम खट्टर ने की घोषणा


इस संबंध में उन्होंने अपने स्तर पर सुझाव मांगे थे, अनेक सुझाव मिले हैं, जिनमें यह छूट देने की बात कही गई है. वह घोषणा करते हैं कि इस वर्ग के युवाओं को आगे होने वाली पुलिस भर्ती में आयु में पांच साल की छूट दी जाएगी. सीएम की घोषणा करने के बाद दादा गौतम ने उनका आभार प्रकट किया.

हकोका कानून को वापस लेने का प्रस्ताव प्रस्तुत करेगी सरकार

सरकार सदन में हकोका कानून को वापस लेने का प्रस्ताव प्रस्तुत करेगी. राष्ट्रपति ने इसमें संशोधन सुझाए हैं, जिन्हें सम्मिलित करते हुए दोबारा से हकोका संशोधन विधेयक सदन में पेश किया जाएगा. इसके अलावा पंजाब से विधानसभा में अपना शेष हिस्सा लेने के लिए भी प्रस्ताव लाया जा रहा है. अन्य जरूरी दस्तावेज भी स्वीकृति के लिए सदन पटल पर रखे जाएंगे.

Advertisement