ऑनलाइन वाहन खरीदने वाले हो जाएं सावधान! जामताड़ा की तर्ज पर सक्रिय हुआ गैंग

गुरुग्राम. आजकल ऑनलाइन शॉपिंग (Online Shopping ) का चलन बढ़ता जा रहा हैं, लेकिन OLX के जरिये वाहनों की खरीद फरोख्‍त करने वालों के लिए एक बुरी खबर है. जी हां, हरियाणा के मेवात से सटे उत्‍तर प्रदेश (Uttar Pradesh) और राजस्थान में बैठे ठग और लुटेरे आपको अपना शिकार बना सकते हैं. हैरानी की बात ये है कि पिछले कुछ समय से मेवात, मथुरा और भरतपुर से सटे इलाको में जामताड़ा जैसे लुटेरों के अड्डे विकसित हो हो रहे हैं और यह बीते जनवरी से सितंबर के बीच OLX के जरिये गाड़ी की खरीद फरोख्‍त के सहारे फ्रॉड के 450 केस हो चुके हैं. इसी वजह से डीसीपी ( साइबर क्राइम,गुरुग्राम) ने इन ठगों से बचने के लिए कई दिशा निर्देश जारी किए हैं

ऐसे बनाते हैं अपना शिकार

आजकल ज्यादातर लोग ऑनलाइन शॉपिंग करना पसंद करते हैं, फिर चाहे नई चीज खरीदनी हो या फिर कोई पुरानी. दिल्‍ली एनसीआर के हिस्से गुरुग्राम में भी बड़ी संख्या में लोग ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं. इसलिए अगर आप भी OLX ऑनलाइन साइट के जरिये वाहनों की खरीद करने जा रहे है तो सावधान हों जाएंग, क्योंकि इस साइट पर है ठगों और लुटेरो की पैनी नजर जो कि फर्जी आईडी,ईमेल और नंबर के जरिये आपको अपना शिकार बनाने के लिए जाल बिछाए बैठे हैं.

ऐसा हम नहीं बल्कि गुरुग्राम पुलिस के चौंकाने वाले आकड़े बता रहे हैं कि कैसे OLX पर गाड़ियों की खरीद को लेकर इसमें लिप्त बदमाश आपको मेवात से सटे इलाको मसलन गुरुग्राम, यूपी और राजस्थान के इलाकों में गाड़ी की डिलीवरी देने के मकसद से बुलाते हैं और फिर ठगी या लूट की वारदात को अंजाम दे फरार हो जाते हैं. जबकि इस मामले में डीसीपी हेडक्वॉर्टर की माने तो गुरुग्राम में बीते जनवरी से सितंबर तक इस तरह की ठगी और लूट के तकरीबन 450 से ज्यादा मामले दर्ज किए जा चुके हैं. हालांकि कई मामलों में आरोपियों को गिरफ्तार भी किया गया लेकिन बावजूद इसके इस तरह के मामले लगातार दर्ज किए जा रहे हैं.

‘सबका नंबर आएगा’

‘सबका नंबर आएगा’ यह टैग लाइन थी जामताड़ा नामक वेब सीरीज की, जो कि हकीकत कहानी के तौर पर बनाई गई थी. बिहार के इलाकों के ऑनलाइन ठगी की वारदात को अंजाम देने वाले बदमाशों की सोच थी कि आज नही तो कल ‘सबका नंबर आएगा’ और इसी तर्ज पर मेवात से सटे यूपी यानी मथुरा, भरतपुर और राजस्थान के इलाकों में नया जामताड़ा गिरोह तैयार होने लगा है, जो कि ऑनलाइन के जरिये अपने शिकार को फंसा उसके साथ ठगी या लूट जैसी वारदातों को अंजाम देने में लगा है.

इस मामले में डीसीपी साइबर क्राइम निकिता गहलावत की माने तो ऐसी तमाम वारदातों के मद्देनजर पुलिस ने OLX के अधिकारियों के साथ मीटिंग कर उन्हें सुरक्षात्मक निर्देश जारी किए गए हैं, जिसके जरिये ऐसी वारदातों पर रोक लगाई जा सके. यह ऑनलाइन से जुड़ी प्रतिष्टित कंपनी का मामला था, इस लिहाज से OLX ने भी इसको लेकर लैटर जारी कर अपना जवाब दाखिल कर पुलिस द्वारा जारी किए गए तमाम दिशा निर्देशों और बदलावों पर जल्द ही काम कर अपने ग्राहकों को सुरक्षित करने हेतु प्रतिबद्धता भी दिखायी है.

पुलिस ने भी ऑनलाइन शॉपिंग करवाने वााली साइट को सुरक्षा के लिहाज से कई बादलाव करने को कहा है, जिसने पुलिस की तरफ से ये भी कहा गया हैं कि जो लोग खासतौर से पुराने सामान की खरीद फरोख़्त करते है उनकी पहचान पुख्ता होनी चाहिए ताकि ऑनलाइन होने वाले फ्रॉड पर अंकुश लगाया जा सके.

बहरहाल, पलिस से जुड़े लोगों की माने तो जामताड़ा की तर्ज पर मेवात और इसके साथ लगते उत्‍तर प्रदेश और राजस्थान के इलाकों में बदमाशों के लिए वारदातों को अंजाम देने के बाद दूसरे राज्यो में शरण लेना काफी आसान होता जा रहा है, जिसके चलते जामताड़ा जैसा ठगी और लूट का नेक्सस इन इलाकों में बनता चला जा रहा है और ‘सबका नंबर आएगा’ की तर्ज पर वारदातों को अंजाम देने में लगा है.

Advertisement