इन तीन सरकारी बैंकों ने सस्ता किया कर्ज, अब ये होगी नई दरें

सार्वजनिक क्षेत्र के यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने विभिन्न अवधि के कर्ज पर कोष की सीमांत लागत आधारित ब्याज दर (MCLR) 0.15 फीसदी  घटा दिया है। ये नई दर 11 अगस्त से लागू होंगी।

यूनियन बैंक के मुताबिक उसने एक साल के एमसीएलआर को 7.40 प्रतिशत से घटाकर 7.25 प्रतिशत कर दिया है। एक दिन के कर्ज के लिये एमसीएलार 6.80 प्रतिशत होगी जबकि तीन महीने और छह महीने की अवधि के लिये यह क्रमश: 6.95 प्रतिशत और 7.10 प्रतिशत होगी। जुलाई 2019 के बाद से मानक दर लगातार 14वीं बार घटायी गयी है।

ये बैंक भी घटा चुके हैं एमसीएलआर

इंडियन ओवरसीज बैंक

सार्वजनिक क्षेत्र के एक और बैंक आईओबी (इंडियन ओवरसीज बैंक) ने भी सभी अवधि के लिये एमसीएलआर 0.10 प्रतिशत कम कर दिया है। आईओबी ने पिछले सप्ताह शेयर बाजार को दी सूचना में कहा कि एक साल के लिये एमसीएलआर 7.75 प्रतिशत से कम कर 7.65 प्रतिशत किया गया है। नई दर सोमवार 10 अगस्त से प्रभाव में आ गयी हैं।

बैंक ऑफ महाराष्ट्र

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ऑफ महाराष्ट्र (बीओएम) ने चुनिंदा परिपक्वता अवधि वाले ऋणों के लिए कोष की सीमान्त लागत आधारित ऋण दर (एमसीएलआर) में 0.20 फीसद तक की कटौती कर चुका है। पुणे स्थित इस बैंक द्वारा एमसीएलआर में लगातार पांचवीं बार कटौती की है। एक साल की एमसीएलआर को 0.10 फीसद घटाकर 7.50 से 7.40 फीसद किया गया है। एक दिन की एमसीएलआर को सात से घटाकर 6.80 फीसदी कर दिया है।

Advertisement