‘डिजिटल विजन’ की दवाइयों पर लगी रोक

जम्मू-कश्मीर में खांसी-जुकाम कोल्ड बेस्ट सीरप के सेवन से कई बच्चों की मौत और किडनी खराब होने के बाद कालाअंब स्थित मेसर्स डिजिटल विजन कंपनी पर बड़ी कार्रवाई की गई है। सीरप उत्पादन पर पाबंदी के बाद सरकार ने अब कंपनी में सभी प्रकार की दवाइयों के उत्पादन पर रोक लगा दी है। गुपचुप तरीके से दवाओं का उत्पादन न हो, इसकी निगरानी के लिए सरकारी कर्मचारियों की भी तैनाती की गई है।

अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) आरडी धीमान के अनुसार, सरकारी दस्तावेजों से मिलान के लिए कंपनी का रिकॉर्ड भी सील करने के निर्देश दिए गए हैं। सरकार ने बुधवार को कंपनी के खिलाफ अब तक की गई कार्रवाई की रिपोर्ट भी तलब की है। दवाओं के सैंपल भी लिए गए हैं। दो से तीन दिन में इसकी रिपोर्ट आने की उम्मीद है। उसके बाद ही कंपनी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

कंपनी के संचालक पुरुषोतम गोयल ने बताया कि कोल्ड बेस्ट सीरप के बैच की 5,575 शीशियां उत्पादित की गई थीं, जिन्हें 10 राज्यों में सप्लाई किया गया हैं। सिर्फ जम्मू-कश्मीर से ही शिकायत आई है। दवा की गुणवत्ता पर उन्हें पूरा भरोसा है। फिलहाल उन्हें भी सैंपल जांच रिपोर्ट आने की प्रतीक्षा है। कंपनी 20 वर्षों से दवा बना रही है। जिसकी शिकायत हुई है, उसका उत्पादन 15 वर्षों से किया जा रहा है।

Advertisement