मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने करनाल शहर के लोगों के लिए मास्टर प्लान को स्वीकृति प्रदान की-

करनाल : कर्ण लेक के दिन बहुरने वाले हैं। इसे पर्यटक हब के रूप में विकसित किया जाएगा। स्मार्ट सिटी प्रोजैक्ट के तहत इस पर 7 करोड़ खर्च किए जाएंगे। कर्ण लेक के कायाकल्प में करीब एक साल लगेगा। 

रविवार को करनाल पहुंचे मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने स्मार्ट सिटी के मास्टर प्लान को स्वीकृति भी प्रदान कर दी। मुख्यमंत्री ने कर्ण लेक पर ही इसके सौंर्दयीकरण को लेकर स्मार्ट सिटी प्रोजैक्ट के अधिकारियों से समीक्षा की। 

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि कर्ण लेक के प्रति ज्यादा से ज्यादा पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए योजनाबद्ध तरीके से काम करें। करनाल स्मार्ट सिटी लिमिटेड के सी.ई.ओ. एवं उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने कर्ण लेक के सौंदर्यीकरण के लिए स्मार्ट सिटी की ओर से तैयार किए प्लान की पॉवर प्वाइंट प्रैजेंटेशन दी।

कर्ण लेक को अब 3 क्यूसिक पानी मिलेगा

सी.एम. ने सुझाव दिया कि पर्यटकों व आम लोगों की सुविधा को ध्यान में रखा जाए। इसके लिए 2 एंट्री प्वाइंट रखें। वहीं पर टिकट काऊंटर की व्यवस्था करवाएं। करनाल शहर के लोगों के लिए सुबह 6 से 8 बजे व सायं 7 से 9 बजे तक लेक पर घूमने फिरने की व्यवस्था फ्री में करवाई जाए। 

सिंचाई विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि लेक में स्वच्छ जल के लिए नहर से व्यवस्था करवाएं। सिंचाई विभाग के अधीक्षक अभियंता संजय ने बताया कि भाखड़ा चैनल से एक क्यूसिक पानी लेक में छोड़ा जाता है। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि इससे बढ़ाकर 3 क्यूसिक किया जाए।

फूड कोर्ट और कैफे भी बनेंगे

डी.सी. ने बताया कि हाईवे पर स्थित झिलमिल ढाबे से लेकर लेक को जाने वाले रास्ते को पर्यटकों के आने योग्य बनाएंगे। कर्ण लेक की पैरिफेरी में साइनेज, पाथ-वे, लाइटिंग की व्यवस्था होगी। झील में वर्षभर पानी मौजूद रहे इसके लिए नलकूप लगेंगे। फूड कोर्ट और कैफे बनाए जाएंगे। 

मौजूदा रैस्टोरैंट के साथ कनैक्टिविटी रखी जाएगी। लेक के मौजूदा इंफ्रास्ट्रक्चर के साथ स्मार्ट सिटी प्रोजैक्ट के कार्य होंगे। जिस कंपनी को ठेका देंगे, उसी में रखरखाव की जिम्मेदारी भी रहेगी। मौजूदा इंफ्रास्ट्रक्चर को अपग्रेड करने से कर्ण लेकर का आकर्षण और बढ़ेगा।

करनाल की हवाई पट्टी का होगा विस्तार

मुख्यमंत्री ने कहा कि करनाल की हवाई पट्टी के विस्तार का रास्ता साफ हो चुका है। इसे 3 हजार से 5 हजार फीट का किया जाएगा। 2 दिन पहले किसानों से मीटिंग कर रेट फाइनल हो चुके हैं।

15 दिन के अंदर किसानों को उनकी जमीन के दाम मिल जाएंगे। फर्जी प्रॉपर्टी आई.डी. से करनाल में 143 रजिस्ट्री होने के सवाल पर कहा कि मामला मेरे संज्ञान में है। मामला दर्ज हो चुका है। इसमें जो दोषी मिलेगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

कर्ण लेक में बनेगा आईलैंड

डी.सी. ने प्रैजेंटशन में दिखाया कि कर्ण लेक की 1.26 किलोमीटर पैरिफेरी को डिवैल्प किया जाएगा। यहां साइकिल ट्रैक की सुविधा भी मिलेगी। यही नहीं कर्ण लेक के अंदर एक आईलैंड भी बनेगा। यहां स्कल्पचर वॉक बनाएंगे। 

महाभारत की थीम पर यहां मूर्तियां लगाई जाएंगी। झील के अंदर संगीतमयी फव्वारे लगेंगे। किनारे पर व्यू डैक बनाए जाएंगे। स्थानीय व बाहरी दस्तकार यहां आकर अपना सामान बेच सकेंगे। इससे उन्हें रोजगार के अवसर मिलेंगे। विभाग की आय भी बढ़ेगी। 

मीटिंग में यह रहे मौजूद

इस अवसर पर घरौंडा के विधायक हरविंद्र कल्याण, स्मार्ट सिटी बोर्ड हरियाणा के चेयरमैन एवं ए.सी.एस. एस.एन.रॉय, पर्यटन विभाग के ए.सी.एस. एम.डी. सिन्हा, करनाल स्मार्ट सिटी लिमिटेड के सी.ई.ओ. एवं उपायुक्त निशांत कुमार यादव, नगर निगम आयुक्त विक्रम, पुलिस अधीक्षक गंगाराम पुनिया, मेयर रेनू बाला गुप्ता, भाजपा के प्रदेश महामंत्री वेदपाल एडवोकेट, जिला अध्यक्ष  योगेंद्र राणा, मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि संजय भटला, सिंचाई विभाग के अधीक्षक अभियंता संजय, पी.एम.सी. प्रवीण झा व अर्बन प्लानर अविनाश सिन्हा मौजूद रहे।

Advertisement