हरियाणा विधानसभा में पुलिस वालों के लिए पार्किंग का नया नियम लागु !

चंडीगढ़ :विधानसभा में जिन पुलिस कर्मचारियों की ड्यूटी लगती है और वह अपनी निजी कार पर सवार होकर ड्यूटी करने विधानसभा पहुंचते हैं लेकिन अब वह कार को विधानसभा की ऊपर वाली पार्किंग में बिना अनुमति के पार्क नहीं कर पाएंगे। आन ड्यूटी पुलिस कर्मी इस बार हाइकोर्ट व विधानसभा गोल सर्कल के बाहर बनी पार्किंग में ही अपने वाहन खड़े कर पाएंगे व आगे उन्हें पैदल आना पड़ेगा। परन्तु अब विधानसभा में ऐसा कोई निजी वाहन नहीं आ पाएगा जिस पर विधानसभा पार्किंग का स्टीकर नहीं होगा।

विधानसभा अध्यक्ष ज्ञान चन्द गुप्ता ने कहा कि इस बार विधानसभा में ड्यूटी में आने वाले पुलिस कर्मियों को हिदायतें देने हेतु सुरक्षा को लेकर एक उच्च स्तरीय मीटिंग हुई है जिसमें मुख्य सचिव,गृह सचिव,चंडीगढ़ के एस.पी. ट्रैफिक मौजूद थे। मीटिंग के बाद यह तय किया गया कि पुलिस कर्मियों की गाडिय़ां पहले ही आकर अन्दर खड़ी  हो जाती हैं। बैरियर से आगे इनकी गाडिय़ां  नहीं आएंगी। सरकारी गाडिय़ां जो अधिकारियों के साथ आती हैं वह अधिकारियों को अंदर छोड़कर बाहर खड़ी की जाएगी ।

Image result for haryana vidhansabha

उल्लेखनीय है कि हरियाणा विधानसभा में पूरे प्रदेश से सैंकड़ों पुलिस कर्मियों की ड्यूटी लगती है। ज्यादातर पुलिस कर्मी पुलिस लाइन से चलने वाले सरकारी वाहनों से नहीं आते। ये लोग निजी वाहनों का इस्तेमाल करते हैं। पुलिस कर्मचारी होने का आई कार्ड दिखाकर विधानसभा की ऊपर वाली पार्किंग में गाड़ी खड़ी कर देते हैं। विधायकों की गाडिय़ां विधानसभा के अंदर की पार्किंग जो ऊपर हैं वहां लगेंगी। सत्र में विजिटर एंट्री केवल एक घण्टे के हिसाब से होगी।

इससे सदन की व्यवस्था भी बनेगी व ज्यादा लोग सदन की गतिविधियों को देख पाएंगे। पुलिस को भी यह हिदायतें दी गई हैं। गुप्ता ने कहा कि निजी वाहन केवल वही एंट्री कर पाएंगे जिन पर विधानसभा पार्किंग का स्टीकर होगा।  गुप्ता ने कहा कि इस बार विधानसभा विजिटर्स पास एम.एल.ए. होस्टल में बनेंगे ताकि विधानसभा में भीड़ न लगे। गुप्ता ने अभय चौटाला के बयान दिया कि उनकी सीट जान बूझकर पीछे किए जाने पर कहा कि हमने किसी भी दल के विधायकों की संख्या के आधार पर बिना भेदभाव के सीट दी है।

Advertisement