हरियाणा में बंद हो जाएंगे सभी मॉल और पेट्रोल पंप ? जाने क्यों

लगातार कई दिनों से चल रहे किसान आंदोलन अब नया रूप ले रहा है। आपको बतादें कि कई दौर के किसानों और सरकार के बीच में बैठक हो चुकी है। लेकिन इन बैठकों का कोई नतीजा नहीं निकला। तो वहीं दूसरी तरफ अब किसानों ने बड़ा एलान कर दिया है। बताना लाजमी है कि यूनियनों के अनुसार, यदि 4 जनवरी को वार्ता के परिणाम संतोषजनक नहीं होते हैं, तो विरोध स्थल से कुंडली-मानेसर-पलवल (केएमपी) एक्सप्रेसवे पर 6 जनवरी को एक ट्रैक्टर मार्च निकाला जाएगा और उन किसानों को जो हरियाणा-राजस्थान सीमा पर शाहजहांपुर में विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, उनको दिल्ली की ओर कूच करने के लिए कहा जाएगा।

बिजली की दरों में वृद्धि और मल जलाने पर जुर्माने के विरोध में किसानों की चिंताओं को हल करने के लिए सरकार और खेत यूनियन 30 दिसंबर को कुछ सामान्य आधार पर पहुंच गए थे। दरअसल किसान आंदोलन के अगले दौर की बातचीत के बाद, शुक्रवार को किसान यूनियनों ने चेतावनी दी कि 4 जनवरी को होने वाली बैठक में अगर सरकार तीन नए कृषि कानूनों को रद्द करने के लिए उनकी मुख्य मांगों को हल करने और MSP के लिए एक कानूनी गारंटी देने में विफल रहती है, तो वे हरियाणा में सभी मॉल और पेट्रोल पंप बंद करना शुरू कर देंगे।

Advertisement