अय्याशी और शौक पूरे करने के लिए युवक ने पकड़ा ऐसा रास्ता जिसने उसे सीधा जेल पहुंचाया

सोनीपत : अपनी जरूरतों और अय्याशी को पूरा करने के लिए यदि पैसे खर्च करता है तो इसमें कोई बुराई नहीं, बशर्ते उसकी कमाई मेहनत की होनी चाहिए। लेकिन इन्हीं जरूरतों और अय्याशियों को पूरा करने के लिए कुछ लोग शार्टकट अपनाते हैं और ये शार्टकट अधिकांश किसी न किसी बुरे काम की श्रेणी में आते हैं। ऐसे शार्टकट रास्तों पर चलने वाले शख्स का फिर एक ही ठिकाना होता है जेल, जहां पहुंचाने का काम पुलिस करती है।

कुछ ऐसा ही मामला सोनीपत जिले से सामने आया है, यहां गांव फाजिलपुर के रहने वाले अमित नाम के शख्स ने चोरी की वारदातों को अंजाम दे डाला लेकिन पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने तहकीकात की तो पता चला कि अमित ईंट के भट्टे पर मजदूरी करता था, जहां उसे कम पैसे मिलते थे। इन पैसों से वह अपने शौक पूरे नहीं कर पाता था। शौक को पूरा करने के लिए तो उसने कर्ज लेना शुरू कर दिया।

अमित जब कर्ज में डूब गया तो कर्जे से उबरने के लिए उसने सोनीपत सेक्टर-12 से दो स्कूटी और बाद में एक निजी अस्पताल के सामने से एक बाइक पर हाथ फेर दिया। इन्हीं मामलों की खोजबीन कर ही पुलिस के हाथ अंतत: अमित की गर्दन तक पहुंच गए और उसे गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया और वहां से उसे जेल भेज दिया गया। सिविल लाइन थाना प्रभारी दर्पण सिंह ने पूरी जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी अमित की गिरफ्तारी के बाद स्कूटी और बाइक तीनों वाहन बरामद कर लिए गए हैं। फिलहाल, आरोपी जेल में और मामले की गहनता से जांच की जा रही है।

Advertisement