भूख की विकराल तस्वीर: कंकाल में बदला 7 साल के लड़के का शरीर, जानिए पूरी घटना

भूखे रहने की वजह से कंकाल जैसे हो चुके 7 साल के लड़के की एक भयावह तस्वीर सामने आई है. यमन के रहने वाले इस लड़के का नाम फैयद समीम है. पैरालाइसिस और बुरी तरह कुपोषण के शिकार समीम का वजन सिर्फ 7 किलो है.

yemen hunger

रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, समीम की हालत बेहद खराब हो गई थी और मुश्किल से ही उसकी जान बच पाई. अब उसे यमन की राजधानी सना के एक हॉस्पिटल में लाया गया है जहां उसका इलाज चल रहा है.

yemen hunger

अल शबीन हॉस्पिटल के कुपोषण वार्ड के सुपरवाइजर डॉक्टर रागेह मोहम्मद ने कहा कि जब समीम को यहां लाया गया तो उसकी जान लगभग जाने ही वाली थी. लेकिन अल्लाह का शुक्र है कि हमने उचित कदम उठाकर उसे बचा लिया. अब उसकी तबीयत बेहतर हो रही है

yemen hunger

डॉक्टर ने बताया कि समीम सेरब्रल पॉल्जी और गंभीर कुपोषण का शिकार है. यमन की राजधानी सना के हॉस्पिटल में समीम को भर्ती कराने के लिए समीम के परिवार को टूटी हुई सड़क और विभिन्न चेकप्वाइंट को पार करते हुए 170 किमी का सफर तय करना पड़ा.

yemen hunger

समीम के इलाज के लिए उसके परिवार के पास पैसे भी नहीं हैं. परिवार इलाज के लिए डोनेशन पर निर्भर है. वहीं, स्थानीय हॉस्पिटल के डॉक्टर का कहना है कि देश में कुपोषित बच्चों की संख्या बढ़ रही है.

yemen hunger

संयुक्त राष्ट्र का मानना है कि यमन दुनिया में सबसे बड़े मानवीय संकट का सामना कर रहा है. यमन में आधिकारिक तौर से अकाल घोषित नहीं किया गया है. लेकिन 6 साल के युद्ध के बाद देश की 80 फीसदी आबादी मदद के भरोसे जी रही है.

yemen hunger

संयुक्त राष्ट्र की कोशिशों से 2018 के आखिर में राहत कार्य में तेजी आई थी, लेकिन फिर कोरोना पाबंदियों की वजह से इसमें दिक्कतें आ गईं. बाढ़ और अन्य वजहों से भी यमन के हालात खराब हो गए.

yemen hunger

2015 से ही यमन युद्ध का सामना कर रहा है. यहां सऊदी के नेतृत्व वाले गठबंधन की लड़ाई ईरान समर्थित हूती आंदोलनकारियों से रही है. इस दौरान एक लाख लोग मारे जा चुके हैं और युद्ध की वजह से देश भी बंट गया है. अब राजधानी सना सहित प्रमुख शहरी इलाकों पर हूतियों का कब्जा है.

yemen hunger

Advertisement