9वीं का स्टूडेंट ऑनलाइन क्लास में मैडम को दिखाता था प्राइवेट पार्ट, हिरासत में लिए जाने पर यह बताई वजह, ऐसे किया गया ट्रैक

9वीं कक्षा के एक स्टूडेंट को मुंबई पुलिस ने राजस्थान से हिरासत में लिया है। 15 साल के इस स्टूडेंट पर आरोप है कि ऑनलाइन कोडिंग क्लास के दौरान उसने महिला टीचर को प्राइवेट पार्ट दिखाया। आरोपी किशोर एक सैन्य अधिकारी का बेटा है और कंप्यूटर की अच्छी जानकारी रखता है।

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है कि 15 फरवरी से 2 मार्च के बीच ई-कोडिंग क्लास के दौरान स्टूडेंट ने कई बार इस तरह की हरकत की। मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी के साथ स्टूडेंट क्लास जॉइन करते हैं। आरोपी स्टूडेंट की हरकतों की वजह से टीचर ऑनलाइन क्लास बंद करने की सोचने लगी थीं।

टीचर ने मुंबई में साकीनाका पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई। सर्विलांस से पता चला कि आरोपी स्टूडेंट राजस्थान में है। इसके बाद पिछले महीने पुलिस टीम को राजस्थान भेजा गया। कई प्रयास के बावजूद स्टूडेंट पकड़ में नहीं आया था क्योंकि उसका लोकेशन बदल चुका था। पुलिस राजस्थान में ही थी और इस दौरान 30 मई को एक बार फिर उसने यही हरकत की। इस बार उसका लोकेशन जैसलमेर में मिला। इसके बाद पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया।

पुलिस ने जब लैपटॉप की जांच की तो पता चला कि उसने इस तरह की सेटिंग कर ली थी कि आईपी अड्रैस को ट्रैक ना किया जा सके। ऑनलाइन क्लास के दौरान वह कैमरे पर अपना चेहरा नहीं आने देता था, लेकिन टीचर ने उसके बैकग्राउंड का स्क्रीनशॉट ले लिया था। इस तस्वीर से जांच में मदद मिली।

जांचकर्ताओं ने जब किशोर से इस घटना को लेकर पूछताछ की तो उसने कहा कि वह मजे के लिए ऐसा करता था। जिन दो महिला टीचर्स के साथ उसने यह हरकत की थी उनमें से एक मुंबई में रहती हैं तो दूसरी देश के दूसरे हिस्से में हैं। स्टूडेंट को बच्चों की अदालत में पेश किया गया और निगरानी गृह में भेज दिया गया है।

Advertisement