सीएम के 3 ‘खास’ अफसर, गृह मंत्री के निशाने पर !

हरियाणा में सीआईडी (क्राइम इन्वेस्टिगेशन डिपार्टमेंट) को लेकर चल रहे विवाद का जल्द निपटारा होने के आसार हैं। सोमवार को भाजपा के नये अध्यक्ष जेपी नड्डा से सीएम मनोहर लाल खट्टर और गृह मंत्री अनिल विज की मुलाकात के बाद इस तरह के संकेत मिले हैं। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से भी मुलाकात होने की सूचना है। दिल्ली से जुड़े भरोसेमंद सूत्रों का कहना है कि पार्टी नेतृत्व ने सीएम और गृह मंत्री को यह विवाद सुलझाने के निर्देश दिए हैं।

सूत्रों का कहना है कि अध्यक्ष पद की ताजपोशी की मुबारकबाद लेने के बाद नड्डा ने राज्य के दोनों दिग्गज नेताओं के साथ सीआईडी से जुड़े विवाद पर भी बातचीत की। नयी दिल्ली स्थित भाजपा मुख्यालय में देर रात करीब एक बजे हुई इस मुलाकात के बाद सीएम खट्टर और गृह मंत्री विज एक ही गाड़ी से हरियाणा भवन पहुंचे। बताते हैं कि सीएम ने ही विज को साथ चलने को कहा था। सीएम मंगलवार सुबह ही सरकारी विमान से चंडीगढ़ लौट आए। विज दोपहर बाद दिल्ली से अंबाला के लिए निकले।

Image result for manohar lal khattarदिल्ली से जुड़े सूत्रों का कहना है कि विज ने सीएम के करीबी 3 अधिकारियों के बारे में पार्टी नेतृत्व को रिपोर्ट की है। ये तीनों ही अधिकारी विज के निशाने पर हैं। माना जा रहा है कि इनमें से 2 अधिकारियों पर गाज गिर सकती है। विज सीआईडी चीफ अनिल राव को एक मिनट भी इस पद पर रखने के पक्ष में नहीं हैं। दिल्ली जाने से पहले ही वे सीआईडी चीफ को चार्जशीट करने के आदेश गृह सचिव को लिखित में देकर गए थे। शहरी स्थानीय निकाय विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव वी़ उमाशंकर की कार्यशैली से भी विज संतुष्ट नहीं हैं। सूत्रों की मानें तो विज ने मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) के एक अधिकारी के खिलाफ भी पार्टी हाईकमान के सामने मोर्चा खोल दिया है।

सीआईडी चीफ के खिलाफ सख्त कार्रवाई को लिखा :-

इस पूरे घटनाक्रम के बीच विज ने मंगलवार को कहा, सीआईडी चीफ के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के लिए लिखा गया है। उन्होंने कहा, ‘मेरे बार-बार कहने के बावजूद भी प्रदेश का इंटेलिजेंस इनपुट नहीं दे रहे थे। इससे प्रदेश की शांति को कभी भी खतरा हो सकता है। अगर मेरे पास इनपुट ही नहीं होगा तो मैं कार्यवाही कैसे करूंगा।’ विज ने दो-टूक कहा, ‘सीआईडी मेरे पास है और जब तक मैं गृह मंत्री हूं, मुझे रिपोर्टिंग करनी पड़ेगी। जब बार-बार कहने के बाद भी अधिकारी नहीं माने, तो उसके खिलाफ कार्रवाई करना मेरी ड्यूटी है। वैसे भी यह प्रदेश के आम लोगों की जिंदगी से जुड़ा मामला है। ऐसे में इस घोर लापरवाही के लिए सख्त कार्रवाई करने को कहा गया है।’ चार्जशीट पर एक्शन नहीं होने की सूरत में विज ने कहा, ‘देखिए, अब क्या होता है। मैं कार्रवाई के आदेश दे चुका हूं।’

Image result for anil vijसीएम से विवाद नहीं : सीएम के साथ विवाद से जुड़े सवाल पर विज ने कहा, ‘मुख्यमंत्री के साथ मेरी कोई खींचतान या विवाद नहीं है। मुख्यमंत्री सरकार के ‘ऑल इन ऑल’ होते हैं। वे जब चाहें कोई भी विभाग ले सकते हैं और मंत्री को दे सकते हैं।

Advertisement