खुशखबरी अब रोड से नहीं हटेंगी 15 साल पुरानी गाड़ियाँ, आई ये नई पॉलिसी

यदि आपके पास 15 साल पुरानी गाड़ी है तो अब आपको घबराने की जरूरत नहीं है और ना ही आपकी गाडी को कंडम माना जाएगा। सरकार ने 15 साल पुराने वाहनों को हटाने का प्रावधान खत्म कर दिया है। पंरतु ऐसी गाडिय़ों को चलाने के लिए हर साल आपको अपनी गाड़ी का फिटनेस सार्टिफिकेट लेना जरूरी होगा। यदि आपने ऐसा नहीं किया तो फिर आपकी गाड़ी को कंडम मान लिया जाएगा।

इसके साथ साथ पुराने वाहनों की खरीद करने व उसका रजिटे्रशन करवाने की फीस अब तीन गुणा अधिक कर दी गई है। लेकिन इसके साथ ही एक बड़ी खुशखबरी यह भी है कि पुरानी कार बेचने और नई कार खरीदने के लिए सरकार की ओर से आपको एक तोहफा दिया जाएगा। इस तोहफे के तौर पर पुरानी कार बेचकर नई कार खरीदने वालों का रजिस्टे्रशन मुफ्त में किया जाएगा। बता दें कि नई कार का रजिस्टे्रशन करवाने की एवज में हजारों रुपए की फीस चुकानी पड़ती है।

सरकार के नए नियम-

पुरानी कार बेचने के बाद अब मिलेगा प्रमाणपत्र

इस प्रमाणपत्र को दिखाने पर नई कार खरीदने वालों को रजिस्टे्रशन मुफ्त होगा

इससे करीब 2.80 करोड़ वाहन स्क्रैपेज पॉलिसी के दायरे में आ जाएंगे

इस नीति से बड़ी संख्या में पैदा होंगे रोजगार के अवसर

ऑटोमोबाईल सैक्टर पुरानी कारों के सस्ते में स्टील, एल्मुनियम, प्लास्टिक जैसे

नई कार खरीदने पर मिलेगी इतनी छूट-

बता दें कि केंद्रीय राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह ने हाल ही में यह जानकारी सांझा की है कि वाहन स्क्रेपिंग योजना के अंतर्गत कैबिनेट में यह प्रस्ताव तैयार कर लिया गया है। इस पॉलिसी के लागू होने से सुस्त और घाटे का सामना कर रही देश की अर्थव्यस्था को ना केवल नई गति मिलेगी, बल्कि देश के ऑटो उद्योग को बड़ा लाभ होगा। देश में नए वाहन खरीदने वालों की संख्या में तेजी आएगी। इस नीति के तहत नई कार खरीदने वालों को 30 प्रतिशत तक का डिस्काऊंट उपलब्ध करवाया जाएगा तथा पुराने की जगह नए वाहन सडक़ों पर आने के बाद प्रदूषण में करीब 20 से 25 प्रतिशत तक की कमी भी होगी।

Advertisement