देखे कब होगी हरियाणा स्‍कूल शिक्षा बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं…

चंडीगढ। Haryana Board Examination 2021 :  बोर्ड (सीबीएसई) द्वारा  4 मई से बोर्ड परीक्षाओं का शेड्यूल जारी कर दिया है। इसके बाद अब हरियाणा सरकार भी राज्‍य में बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी में जुट गई है। राज्‍य मेंं हरियाणा स्‍कूल शिक्षा बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं अप्रैल के अंतिम सप्ताह में आयोजित की जाएंगी। इस बारे में राज्‍य सरकार हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड को जल्‍द ही सूचित कर देगी। इसके अलावा राज्‍य में अब अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों को मैट्रिक के बाद दी जाने वाली छात्रवृत्ति साल में एक ही बार देने की भी सिफारिश की गई है।

एससी छात्रों को छह महीने की बजाय साल में एक बार मैट्रिकोत्तर छात्रवृत्ति देने की सिफारिश

हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर ने बताया कि सरकार जल्द ही बोर्ड परीक्षाओं पर निर्णय लेकर हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड को सूचित कर देगी। बोर्ड के स्तर पर भी परीक्षाओं की पूरी तैयारी है। सरकार की हरी झंडी मिलते ही परीक्षाओं का शेड्यूल जारी कर दिया जाएगा।

गुर्जर ने कहा कि इसके अलावा कालेजों में युवाओं को यातायात व प्रकृति के प्रति जागरूक करने के लिए नेचर एंड ट्रैफिक इंटरप्रीटेशन सेंटर खोले जाएंगे। सभी कालेजों के प्राचार्यों को इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए गए हैं। इन केंद्रों में कालेज के सभी युवाओं को रजिस्टर कराना अनिवार्य होगा।

प्रदेश के सभी कालेजों में खोले जाएंगे नेचर एंड ट्रैफिक इंटरप्रीटेशन सेंटर

अनुसूचित जाति एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री डा. बनवारी लाल ने एससी विद्यार्थियों के लिए मैट्रिकोत्तर छात्रवृत्ति (पीएमएस-एससी) योजना की समीक्षा बैठक में सुझाव दिया है कि एससी छात्रों को साल में दो बार भत्ता देने की बजाय एक ही बार भत्ता दिया जाना चाहिए। भत्ते की 80 फीसद राशि केंद्र सरकार दे, जबकि 20 फीसद प्रदेश सरकार।

दिल्ली में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत की अध्यक्षता में हुई बैठक में डा. बनवारी लाल ने कहा कि छात्रवृति से संबंधित कई जांचें भी चल रही हैं। हमें ऐसी जांच में शामिल छात्रों को जांच उपरांत पात्रता के आधार पर इस योजना में शामिल होने का मौका देना चाहिए।

Advertisement