ऐसा फ्रॉड नहीं देखा होगा, 10 हजार का मोबाइल 10 रु में मंगवाया, फिर कंपनी से वसूले पूरे पैसे

अगर आप भी ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं तो सावधान हो जाएं. लखनऊ के दो छात्रों ने साइबर ठगी के जरिए ई कॉमर्स कंपनियों को करोड़ों का चूना लगाया है. पुलिस के हत्थे चढ़े दोनों आरोपियों के खातों से पुलिस ने एक करोड़ रुपये से ज्यादा की रकम बरामद की है जो इन्होंने फ्रॉड करके कमाए थे.

दरअसल, उत्तर प्रदेश के महाराजगंज में दो हैकर्स ने मिलकर देश के नामी ई-कॉमर्स कंपनियों की वेबसाइट की कमियों का फायदा उठाते हुए इन्हें करोड़ों का चूना लगाया. दोनों युवक छात्र हैं और लखनऊ में कंप्यूटर एप्लीकेशन की पढ़ाई कर रहे थे.

गिरफ्तारी के बाद उन्होंने जो बताया वो जानकर आपके भी कान खड़े हो जाएंगे.  दोनों युवकों ने बताया कि वो सबसे पहले ऐप्स के जरिए ई-कॉमर्स कंपनियों की वेबसाइट पर बग (एक प्रकार की कमी) का पता लगाते थे. इसके बाद उसी बग के जरिए मोबाइल, टीवी या किसी भी अन्य सामान की कीमत को बेहद कम कर देते थे.

अगर इसको उदाहरण से समझें तो शॉपिंग वेबसाइट पर अगर किसी मोबाइल की कीमत 10 हजार रुपये होती थी तो आरोपी हैकर्स बग का इस्तेमाल करते हुए कीमत को एडिट कर 10 रुपये या फिर 100 रुपये बना देते थे और फिर ऑर्डर कर देते थे.

इसके तुरंत बाद उसी प्रोडक्ट को कैंसिल कर कंपनी से उसकी वास्तविक कीमत यानी 10000 रुपये वसूलते थे. यह सब इतनी जल्दी होता था कि कंपनी को इसकी भनक भी नहीं लगती थी. दोनों आरोपियों ने अपना जुर्म कुबूल कर लिया है.

वहीं इस मामले को लेकर एसपी प्रदीप गुप्ता ने बताया कि दोनों शातिर आरोपी एंड्रॉइड मोबाइल के जरिए पहले ऐप डाउनलोड करते थे और उस ऐप की मदद से विभिन्न कंपनियों की साइट को हैक कर लेते थे. साइट हैक करने के बाद हैकर उनके प्रोडक्ट के दाम को कम कर उसे खरीद लेते थे.

खरीदने के बाद जब डिलीवरी आती थी तो उस सामान में खराबी या खाली डब्बा दिखाकर उसे वापस करते थे. जैसे ही वह सामान वापस होता था उस सामान की वास्तविक कीमत वापस बढ़ाकर अपने खाते में मंगवा लेते थे.

Advertisement